Skip Navigation Links
 

अरना-झरना मरू संग्रहालय एक ऐसी नव कल्पना है जहां न तो कांच के बक्सों में सजी अद्भुत या अनमोल वस्तुओं का प्रदर्शन है और न ही विस्मृत करने वाली वस्तुओं का संग्रह।

वरन् यह मरूस्थल की विहंगमता को, उसके खुले वातावरण और उसमें व्याप्त प्राकृतिक जीवन को समाहित करते हुये, संग्रहालय के एक व्यापक स्वरूप को खोजने की प्रक्रिया है।

अरना-झरना मरू संग्रहालय देश के अग्रणी लोक-वार्ताकार श्री कोमल कोठारी की संकल्पना है जो मरूस्थल के पारंपरिक ज्ञान से सिंचित है।

 


 All rights reserved with Rupayan Sansthan. Powered By Neuerung